All About Vishnu Ji

भगवान विष्णु की पूजा विशेष रूप से हिंदुओं एवं वैष्णव परंपरा ( वैष्णव ) के अनुयायियों के बीच बहुत लोकप्रिय है। भगवान विष्णु अन्य दो के रूप में भगवान ब्रह्मा और भगवान शिव के साथ हिंदू त्रिदेव के दूसरे सदस्य है। भगवान विष्णु भी को वासुदेव और नारायण के रूप में एवं अन्य नामों से जाना जाता है।

भगवान विष्णु परम ब्रह्मांड का प्रतिनिधित्व करते है जो की वास्तविकता के पहलू को बरकरार रखता है| एसे तो लोग भगवान विष्णु के चित्रों और छवियों में बदलाव कर रहे हैं, पर आम तौर पर वो चार भुजाओ के साथ एक मानव शरीर का प्रतीक है।

उनकी भुजाओ में एक शंख ( शंख ), एक गदा ( गदा ), और चक्र रखा जाता है। वो एक मुकुट , दो बालियां, फूलों की माला (माला ), और गर्दन के चारों ओर एक मणि धारण करते है। उनका नीले रंग का शरीर है और वो पीले रंग के वस्त्र धारण करते है। भगवान विष्णु को एक हजार सिरो बाले सांप ( भगवान शेष नाग) की छाया मे खड़े दिखाया गया है|

उनक चार भुजाओ से भगवान की सर्व-भूत एवं सर्व-शक्ति का संकेत मिलता है।दो सामने की भुजाए भौतिक दुनिया में भगवान की गतिविधि को दर्शाता है और दो भुजाए वापस आध्यात्मिक दुनिया में अपनी गतिविधि को दर्शाता है ।

भगवान विष्णु शरीर का दाँया भाग मन और बुद्धि की रचनात्मक गतिविधियों का प्रतिनिधित्व करता है| शरीर का बायाँ ओर दिल की कि प्रेम, दया गतिविधियों का प्रतीक है|

Contact :+91 8742-994-994

Whatsapp :+91 8742-994-994